Aankho ki phunsi thik karne ka gharelu nuskha

Share:
नमस्कार दोस्तों,आपने देखा होगा की अक्सर ठंड के दिनों में कई बार लोगों के आंखों के ऊपरी या निचली परत यानी पलकों पर छोटी फुंसी हो जाती है.मेडिकल के भाषा में इस फुंसी को अंजनहारी या गुहेरी (Stye) के नाम से जाना जाता है. वैसे देखा जाये तो ये कोई बड़ा रोग नही है लेकिन इसके होने से परेशानी बहुत होती है.मरीज के आँखों में जलन होती है और देखने में भी बहुत परेशानी होती है.आज के इस पोस्ट में मै आप को इस फुंसी को ठीक करने का एक gharelu nuskha बताऊंगा.

आँखों के पलकों में फुंसी क्यों होती है

दरअसल पलकों में फुंसी संक्रमण के कारण होता है.Vitamin A और Vitamin D की कमी से भी पलकों में फुंसी निकलता है इसके अलावा जिन लोगों को कब्ज़ की शिकायत रहती है उनके आँखों के पलकों में फुंसी निकलता है.

फुंसी के इलाज का gharelu nuskha

अगर किसी को अंजनहारी या गुहेरी निकलता है तो उसको केसर को ठन्डे पानी में घिस कर फुंसी पर लगाना चाहिए.इससे फुंसी ठीक हो जाता है.

दिन में कई बार फुंसी की सिकाई करना भी एक बहुत अच्छा gharelu nuskha है.आँखों के फुंसी को सेकने के लिए आप अपने हाथों के उँगलियों का उपयोग कर सकते हैं.एक हाथ के ऊँगली को दुसरे हाथ के हथेली पर रगड़ें और जब ऊँगली का सिरा गर्म हो जाये तो उससे गुहेरी को सेकें.

अगर आप के आँखों में गुहेरी की समस्या हमेशा बनी रहती है तो आप लगभग 15 दिनों तक लगातार सुबह शाम 3 ग्राम त्रिफला चूर्ण गाय के दूध के साथ लें.आप देखेंगे की एक दो सप्ताह के बाद आप के आँखों में बार बार गुहेरी का निकलना बंद हो जायेगा.गुहेरी से बचने का ये भी बहुत अच्छा gharelu nuskha है.

आप अपनी आँखों को हमेशा साफ़ पानी से धोये और साफ़ कपडे से पोछें इससे आप को गुहेरी की समस्या नहीं होगी.इसके अलावा आप अपनी आँखों को धुल और मिट्टी से भी बचा के रखे.आँखों को कभी भी भूल कर भी नहीं मसलना चाहिए.अगर आप इन सारे बातों का ध्यान रखेंगे तो आप को गुहेरी होने की कोई संभावना नहीं होगी.

दोस्तों आप को मेरा ये पलकों पर निकालने वाले फुंसी के इलाज़ का gharelu nuskha कैसा लगा.अगर आप के मन में इस gharelu nuskha को लेकर कोई सवाल हो तो आप कमेन्ट कर के पूछ सकते हैं.

No comments